काम पवित्र है!

0
1186

इतना पवित्र कि काम से ही अस्तित्व का निर्माण होता हैं !!
मैं काम का शत्रु नहीं हुँ, मेरी दृष्टि में काम उतना ही पवित्र हैं! जितना जीवन में शेष सब पवित्र है। मै काम का नहीं; वासना का विरोध करता हूँ, काम पवित्र है किन्तु काम में अगर वासना आ गयी! तो तुम परमात्मा से चूक गए। क्योंकि काम जीवन का केंद्र बिंदु हैं, काम अस्तित्व का प्रारंभ हैं, काम सृष्टि का बीज हैं। और वासना! वासना पतन का पहला और अंतिम कारण..!!