Tuesday, November 24, 2020
Tags मंदिर

Tag: मंदिर

विरह का अर्थ

विरह का अर्थ क्या है? विरह का अर्थ है: भीतर मै शून्य हूं। जहाँ परमात्मा होना चाहिए था वहां कोई भी नहीं है, सिंहासन...

बिन गुरु मारग कौन बतावै

मीरां जब गई वृंदावन के एक मंदिर में, जहां कि स्त्रियों को आने की मनाही थी क्योंकि मंदिर का पुजारी बड़े विक्षिप्त रूप से...

रामकृष्ण का अनूठा प्रयोग

रामकृष्ण ने एक अनूठा प्रयोग इस सदी के प्रारंभ में किया–पिछली सदी के अंत में; कि पहुंचने के बाद उन्होंने दूसरे मार्गो पर भी...