Sunday, September 15, 2019
Tags आत्म—दर्शन

Tag: आत्म—दर्शन

मैं कौन हूं?

एक रात्रि की बात है। पूर्णिमा थी, मैं नदी तट पर था, अकेला आकाश को देखता था। दूर—दूर तक सन्नाटा था। फिर किसी के...